Tag Archives: R

मैं और मेरी तनहाई अक्सर ये बातें करते है



मैं और मेरी तनहाई अक्सर ये बातें करते है
तुम होती तो कैसा होता
तुम ये कहती तुम वो कहती
तुम इस बात पे हैरां होती
तुम उस बात पे कितनी हँसती
तुम होती तो ऐसा होता
तुम होती तो वैसा होता
मैं और मेरी तनहाई अक्सर ये बातें करते है
ये रात है या जुल्फ़े तुम्हारी खुली हुई
है चांदनी या तुम्हारी नज़रों से मेरी रातें धुली हुई
ये चाँद है या तुम्हारा कंगन
सितारें है या तुम्हारा आँचल
हवा का झोका है या तुम्हारे बदन की खुशबू
ये पत्तों की है सरसराहट
या तुमने चुपके से कुछ कहा है
ये सोचता हूँ मैं कबसे गुमसुम
की जबकि मुझको भी ये खबर है तुम नहीं हो……कही नहीं हो
मगर ये दिल है की कह रहा है
तुम यही हो यही कही हो
मजबूर ये हालत इधर भी है उधर भी है
तनहाई की एक रात इधर भी है उधर भी है
कहने को बहुत कुछ है मगर किस से कहे हम
कब तक यूँही खामूश रहे है और सहे हम
दिल कहता है दुनिया की हर एक रसम को उठा दे
दीवार जो हम दोनों में है गिरा दे
क्यूँ दिल मैं सुलगते रहे लोगों को बता दें
हाँ हम को मोहब्बत है मोहब्बत है मोहब्बत
अब दिल में ये बात इधर भी है उधर भी है
जाँवेद अख्तर

English Translation:
Me and my loneliness often have this conversation
how would it be to have you, you would say this, you would say that
you would be shocked to hear this, you would laugh to hear that
it would be like this if you would be here, it would’ve been like that if you would be here
Me and my loneliness often have this conversation

Is is the night or is your hair open
Is it the moonlight or your eyesight in which my night’s set
Is it the moon or your bangle
Are they stars or your shawl
Is it the breeze or the aroma of your body
Is it the sound of the leaves
Or you have quietly said something
I have been thinking quietly
Though I am well aware
That you are not around, not there at all
But this heart which is telling me
That you are here, somewhere around her
Difficult situation is present in this place too and there too
Lonely night is present here also, there also
There are so many things to be said
But, to whom shall i say
Till when can i stay silent and tolerate
Heart says that i should cross every tradition present in this world
Break the walls between the both of us today
Why should we leave it in our hearts
Lets tell the people
Yes, we are in love, we are in love, love
Now the same thoughts present in my heart are here also, there also

IMDB Link: Silsila 1981

Tagged , , , , , , , , , , , , ,
%d bloggers like this: